www.poetrytadka.com



4 line shayari

zindagi ke sfar me

ज़िन्दगी के सफ़र में आपका सहारा चाहिए !

आपके चरणों का बस आसरा चाहिए !

हर मुश्किलों का हँसते हुए सामना करेंगे !

बस ठाकुर जी आपका एक इशारा चाहिए !!

yaado ki barat wahi hai

तुम नहीं हो पास मगर तन्हाँ रात वही है ! 

वही है चाहत यादों की बरसात वही है ! 

हर खुशी भी दूर है मेरे आशियाने से ! 

खामोश लम्हों में दर्द-ए-हालात वही है !!

mohabbat ke bina

मोहब्बत के बिना रवानी क्या होगी !

मोहब्बत नहीं तो कहानी क्या होगी !

आग का दरियाहो या प्यार की कश्ती !

मोहब्बत नहीं तो जिंदगानी क्या होगी !!

unki yaad me

उनकी याद में बेकरार हो जाता क्यों है !

उनकी बात में उमड़ जाता क्यों है !

प्यार करना है तो इजहार क्यों नहीं करता !

अपने साथ उनके दिल को सताता क्यों है !!

chahat ne teri mujh ko kuch

चाहत ने तेरी मुझको कुछ इस तरह से घेरा !

दिन को हैं तेरे चरचे रातों को ख्वाब तेरा !

तुम हो जहाँ वहीं पर रहता है दिल भी मेरा !

बस इक ख्याल तेरा क्या शाम क्या सवेरा !!