Poetry Tadka

Friendship Shayari

Friendship is the only relationship in the world that has no comparison. And for this relationship, we have shared some shayari, which your friends will like. And these friendship shayari can improve your close relationship, so please read these best friend shayari in Hindi for your dear friends.

Friendship Shayari | फ्रेंडशिप शायरी | Best Friend Shayari in Hindi

Attitude Friend Shayari

एक चाहत होती है दोस्तों के साथ जीने की जनाब
वरना पता तो हमें भी है कि मारना अकेले है..
Ek Chahat Hoti Hai Dosto Ke Sath Jeene Ki Janab
Warna Pata To Hame Bhi Hai Ki Marna Akele Hai..

लोग प्यार में पागल हैं,
और हम आपकी दोस्ती में.
Log Pyar Me Pagal Hin,
Aur Hum Aapki Dosti Men.

भाड़ में जाये दुनियां दारी,
सलामत रहे बस अपनी यारी.
Bhaad Me Jaye Duniyan Daari,
Salamat Rahe Bas Apni Yaari. 

Kaun Kahta Hai Yari Barbaad Karti Hai

कौन कहता है यारी बर्बाद करती है,
कोई निभाने वाला हो तो दुनियां याद करती है.
Kaun Kahta Hai Yari Barbaad Karti Hai,
Koi Nibhane Wala Ho To Duniyan Yaad Karti Hai.

दम नहीं किसी में की मिटा सके हमरी दोस्ती को,
जंग तलवार को लगता है जिगरी यारो को नहीं.
Dam Nahin Kisi Me Ki Mita Sake Hamri Dosti Ko,
Jang Talwar Ko Lagta Hai Jigri Yaron Ko Nahin.

जिंदा रहने के बहाने ढूंढें
आओ मिलके कुछ दोस्त पुराने ढूंढें.
Jinda Rahne Ke Bahane Dhoondhen
Aao Milke Kuch Dost Purane Dhoondhe.

खुदा करे मेरी और
मेरे दोस्त की दोस्ती इतनी खश हो
जब लोग हमें साथ में देखे तो कहे 
काश ऐसा दोस्त भी मेरे पास हो
Khuda Kare Meri Or
Mere Dost Ki Dosti Itni Khash Ho
Jab Log Hame Sath Me Dekhe
To Kahe Kash Esa Dost Bhi Mere Pash Ho

Dosti Ke Dawe Nahin Aate Yaar

दावे मुझे दोस्ती के नहीं आते यार,
एक जान है जब दिल चाहे मांग लेना।
Dawe Mujhe Dosti Ke Nahin Aate Yaar,
Ek Jaan Hai Jab Dil Chaahe Maang Lena.

यहाँ क़दम क़दम पर नए फनकार मिलते हैं,
लेकिन क़िस्मत वालों को सच्चे यार मिलते हैं।
Yahaan Qadam Qadam Par Naye Fankaar Milate Hain,
Lekin Qismat Vaalon Ko Sachche Yaar Milate Hain.
Best Friend Shayari And Friendship Shayari.

Dam Nahin Kisee Mein Kee Mita Sake

दम नहीं किसी में की मिटा सके हमारी दोस्ती को,
जंग तलवारों को लगता है जिगरी यार को नहीं।
Dam Nahin Kisee Mein Kee Mita Sake Hamaaree Dostee Ko,
Jang Talavaaron Ko Lagata Hai Jigaree Yaar Ko Nahin.

दिल से ख्याल-ए-दोस्त भुलाया न जायेगा,
सीने में दाग है की मिटाया न जायेगा।
Dil Se Khyaal-e-dost Bhulaaya Na Jaayega,
Seene Mein Daag Hai Kee Mitaaya Na Jaayega.

Hum Wakt Ke Sath Shauk.
Badalte Hain Dost Nhin.
हम वक्त के साथ शौक.
बदलते हैं दोस्त नहीं.

Wo Mera Dost Bhi Hai Aur Dushman Bhi,
Whai Mera Dil Bhi Hai Aur Dhadkan Bhi.
वो मेरा दोस्त भी है और दुश्मन भी,
वही मेरा दिल भी है और धड़कन भी.
 

Kisi Se Roj Milakar Baatein Karna Dostee Nahin

किसी से रोज मिलकर बातें करना दोस्ती नहीं,
बल्कि किसी से बिछड़ कर याद रखना दोस्ती है।
Kisee Se Roj Milakar Baaten Karana Dostee Nahin,
Balki Kisee Se Bichhad Kar Yaad Rakhana Dostee Hai.

जो दिल को अच्छा लगता है उसी को दोस्त कहता हूँ,
मुनाफ़िक़ बनकर रिश्तों की सियासत मैं नहीं करता।
Jo Dil Ko Achchha Lagata Hai Usee Ko Dost Kahata Hoon,
Munaafiq Banakar Rishton Kee Siyaasat Main Nahin Karata.

दोस्त ऐसे बनाओ जो दुःख में साथ देता हो,
ख़ुशी में तो हिजड़े भी नाचते हैं.
Dost Aisey Banao Jo Dukh Me Sath Deta Ho,
Khushi Me To Hijde Bhi Nachte Hain.

Irada To Dosti Ka Tha

मुलाक़ातें ज़रूरी है अगर दोस्ती निभानी है साक़ी,
लगाकर भूल जाने से तो अक्सर पौधे सूख जाते हैं।
Mulaaqaaten Zarooree Hai Agar Dostee Nibhaanee Hai Saaqee,
Lagaakar Bhool Jaane Se To Aksar Paudhe Sookh Jaate Hain.

इरादा तो दोस्ती का था,
लेकिन मोहब्बत हो गयी।
Iraada To Dostee Ka Tha,
Lekin Mohabbat Ho Gayee.

    Sacha Dost Kon Hota Hai

    दोस्त बेशक एक हो मगर ऐसा हो जो
    अल्फ़ाज़ से ज़यादह खामोशी समझे
    Dost Beshak Ek Ho Magar Aisa Ho Jo
    Alfaaz Se Zayaadah Khaamoshee Samajhe

    मैं बुरा ही सही दोस्त
    तुम अच्छे से तो निभाना
    Main Bura Hee Sahee Dost
    Tum Achchhe Se To Nibhaana

    Mohabbat Aur Dosti Ye Do Cheezein

    मोहब्बत और दोस्ती
    ये दो चीज़ें हर तूफान का मुकाबला कर सकती हैं
    मगर एक चीज़ इन दोनों को टुकड़े टुकड़े कर सकती है
    वो है गलत फहमी
    Mohabbat Aur Dostee
    Ye Do Cheezen Har Toophaan Ka Mukaabala Kar Sakatee Hain
    Magar Ek Cheez In Donon Ko Tukade Tukade Kar Sakatee Hai
    Vo Hai Galat Phahamee

    Kamiya To Mujhme Bhut Hai

    फूलों से तो वफ़ा मिल नहीं सकी
    आओ काँटों से दोस्ती करलें
    सुना है ये दामन पकड़ लें
    फिर आसानी से छोड़ा नहीं करते
    Phoolon Se To Vafa Mil Nahin Sakee
    Aao Kaanton Se Dostee Karalen
    Suna Hai Ye Daaman Pakad Len
    Phir Aasaanee Se Chhoda Nahin Karate

    Dosti Shayari Zra Sambhal Kar Chalna

    हम दोस्ती में दरख्तों की तरह है
    जहां खड़े हो मुद्दतों क़ायम रहते हैं
    Ham Dostee Mein Darakhton Kee Tarah Hai
    Jahaan Khade Ho Muddaton Qaayam Rahate Hain

    कब भुलाये जाते हैं दोस्त जुदा होकर भी वसी
    दिल टूट तो जाता है, रहता फिर भी सीने में
    Kab Bhulaaye Jaate Hain Dost Juda Hokar Bhee Vasee
    Dil Toot To Jaata Hai, Rahata Phir Bhee Seene Mein