www.poetrytadka.com

Ishq Shayari

Welcome to Looking Ishq Shayari in Hindi ! इश्क शायरी ! Shayari on Ishq page by poetry tadka team. Ishq shayari, इश्क शायरी, इश्क वाली शायरी and many more shayari on ishq in Hindi please be with us and read latest ishq shayari Hindi at poetry tadka. मैं भी हुआ करता था वकील इश्क वालों का कभी ! नजरें उस से क्या मिल आज खुद कटघरे में हूँ !

Ishq Shayari 2 Line

Ishq Shayari 2 Line

किसी को गुलाब देना इश्क़ नहीं
उसे गुलाब की तरह रखना इश्क़ है।
Kisi ko gulab dena ishq nahin
use gulab ki trah rakhna ishq hai.

इश्क ने हमसे कुछ ऐसी साजिशें रची हैं, 
मुझमें मैं नहीं हूँ अब बस तू ही तू बसी है।
Ishq ne kuch aisi sajishen rachi hai
mujhme mai nahin hun bus tu he tu basi hai.
 

Ishq quotes in Hindi

Ishq quotes in Hindi

इश्क के धागे से बांधा ही नहीं मैंने तुझे कभी... 
रूह के हर रेशे से जुड़ा है तेरा-मेरा रिश्ता...
Ishq ke dhage se badha he nahi maine tujhey kabhi.
Rooh ke har reshe se juda hai tera mera rishta.

बंद कर दिए है हमने 
तो दरवाजे इश्क के 
पर कमबख्त तेरी यादें तो 
दरारों से ही चली आई
Band kar diye hai hamne 
to darwaze ishq ke.
Par kambakht teri yeaden
dararon se he chali aai.

Ishq Shayari Urdu

Ishq Shayari Urdu

عشق ہے تو ، شک کیسا؟
نہیں ہے تو حق کیسا ؟
Ishq hai to shak kaisa
nahin hai ti haq kaisa.

عشق کیا زندگی دے گا کسی کو 
یہ تو شروع ہی کسی پر مرنے سے ہوتا ہے
Ishq kya zindagi dega kisi ko.
Ye to suroo he kisi pe marne se hota hai.

Ishq Shayari in Hindi

Ishq Shayari in Hindi

दिवाना हर शख़्स को बना देता है इश्क 
सैर जन्नत की करा देता है इश्क, 
मरीज हो अगर दिल के तो कर लो इश्क, 
क्योंकि धड़कना दिलों को सिखा देता है इश्क।
Diwana har shakhs ko bana deta hai ishq 
Sair jannat kee kara deta hai ishq. 
Mareej ho agar dil ke to kar lo ishq.
Kyonki dhadakana dilon ko sikha deta hai ishq

दिल एक है तो कई बार क्यों लगाई जाये
बस एक इश्क़ बहुत है अगर निभाया जाये.
Dil aik hai to kai baar kyon lagay jaye
Bus aik ishq bahot hai agar nibhaya jaye.
 

Shayari on ishq in Hindi

Shayari on ishq in Hindi

इश्क़ में इसलिए धोखा खाने लगे हैं लोग 
दिल की जगह जिस्म को चाहने लगे हैं लोग 
Ishq me isliye dokha khane lage hain log
dil ki jagah jism ko chahne lage hain log.

इश्क़ करने का इरादा न था
बस यूँ ही हो गया देखते देखते
Ishq karne ka irada na tha
bus youn he ho gaya dekhte dekhte.