www.poetrytadka.com

mai to jhoka hun hwa ka

मैं तो झोंका हूँ हवा का उड़ा ले जाऊँगा !
जागती रहना तुझे तुझसे चुरा ले जाऊँगा !
हो के कदमों पे निछावर फूल ने बुत से कहा !
ख़ाक में मिल के भी मैं खुश्बू बचा ले जाऊँगा !!