www.poetrytadka.com

Khwahish shayari

Khwahish shayari, ख्वाहिश शायरी, and many more latest khwahish shayari in Hindi fonts with picture at poetry tadka.

Khwahish Shayari in Hindi

Khwahish Shayari in Hindi

मैं खुद की ख्वाहिशों को जता नहीं पाया 
मसला कुछ ऐसा था की मै  खामोश बहुत था 
I couldn't express my dreams
The issue was such that I was very silent.

Category : Khwahish shayari

Use kishmat smjh kar

use kishmat smjh kar
उसे किस्मत समझ कर सीने से लगाया
था, भूल गए थे के किस्मत बदलते देर नहीं लगती

Category : Khwahish shayari

Uski khwahish

मेरे टूटने की वजह मेरे जोहरी से पूछो....

उस की ख्वाहिश थी कि मुझे थोडा और

तराशा जाये.!!

Category : Khwahish shayari

Khwahish shayari 2022.

Hum itne gareeb nahi

hum itne gareeb nahi

तुम आरजू तो करो मोहब्बत करने की 

हम इतने भी गरीब नहीं की मोहब्बत ना दे सके

Category : Khwahish shayari

Khwahish ye nahin

ख़्वाहिश ये नहीं की तारीफ़ हर कोई करे......

कोशिश ये ज़रूर है की कोई बुरा ना कहे.....

Category : Khwahish shayari