www.poetrytadka.com

Garibi Shayari

Garibi shayari hindi, गरीबी शायरी, गरीबी पर शायरी, हिन्दी शायरी की एक बेहतरीन साईड पोएट्री तड़का.कॉम

Amiri Garibi Shayari

Amiri Garibi Shayari

वो जिनके हाथ में हर वक्त छाले रहते हैं, 
आबाद उन्हीं के दम पर महल वाले रहते हैं
Wo jinke hath me har waqt chhale rahte hain
abd unheen ke dam par mahal wale rahte hain.

Zakhm shayari

मरहम लगा सको तो किसी गरीब के जख्मों पर लगा देना हकीम बहुत हैं बाजार में अमीरों के इलाज खातिर

Dolat pe shayari

जब भी देखता हूँ किसी गरीब को हँसते हुए, यकीनन खुशिओं का ताल्लुक दौलत से नहीं होता

Aansu pe shayari

कभी आंसू कभी ख़ुशी बेची हम गरीबों ने बेकसी बेची, चंद सांसे खरीदने के लिए रोज थोड़ी सी जिन्दगी बेची

Gandhi pe shayari

ये गंदगी तो महल वालों ने फैलाई है साहब, वरना गरीब तो सड़कों से थैलीयाँ तक उठा लेते हैं