www.poetrytadka.com

Khwab Shayari

Read latest post on khwab shayari, mera khwab shayari, khwab shayari images, toote khawab shayari, shayari on adhure khwab, haseen khwab shayari and many more dream shayari in Hindi.

Dream Shayari in Hindi

Dream Shayari in Hindi

अगर ज़िन्दगी में सुकून चाहते हो 
तो अपने Dream पर काम करो 
लोगों की बातों पर नहीं।
Agar zindagi me sukoon chahte ho
to apne sapnon pr kam kro
logon ki baton par nahin.

Kuch log kahte hai

kuch log kahte hai
कुछ लोग कहते है की बदल गये हैं हम
उनको ये नहीं पता की संभल गये हैं अब हम

Adhure sapne status

adhure sapne status
सामान बाँध लिया है मैंने अपना अब बताओ
कहाँ रहते हैं वो लोग जो कहीं के नहीं रहते

sabhi raho sabhi manjilo main fasle the
magar kuch raste se hud se zayda gujar jana banta hai
सभी रहो सभी मंजिलों में फैले थे
मगर कुछ रास्ते से हुड से जायदा गुजर जाना बनता है

ab to khud se bhi milne ko ji nahi karta
bohut bure hai hum ab logo ye yahi suna hai
अब तो खुद से भी मिलने को जी नहीं करता
बहुत बुरे हैं हम अब लोगो ये यही सुना है

Shayari on adhure khwab

shayari on adhure khwab
वो साथ थी तो मानो जन्नत थी जिंदगी
अब तो हर सांस जिंदा रहने की वजह पूछती है.

dil ki basti ko viraan kar ke chala gaya
jo kehta tha bade pyare ho tum
दिल की बस्ती को वीरान कर के चला गया
जो कहता था बडे प्यारे हो तुम

meri zindagi main koi khaas nahi aata
wo kya hai ke main kisi aur ko raas nahi aata
मेरी जिंदगी में कोई खास नहीं आता
वो क्या है के मैं किसी और को रास नहीं आता

Khawab shayari on facebook

khawab shayari on facebook
मेरी सरगोशियां जब खामोशियाँ बन जाएं
मेरी तनहाइयाँ तेरी मजबूरिया न बन जाएं

thudi si jagah mangi thi dil main iske musafiron ki tarah
isne to tanhai main pura saher mere naam kr diya
थोडी सी जगह माँगी थी दिल मैं इसके मुसाफिरों की तरह
इसने तो तन्हाई मैं पूरा शहर मेरे नाम कर दिया

mana ke khud chal kar aaye hai teri dehliz par hum
sitam sitam aur sitam ye jaha ka insaaf hai
मन के खुद चल कर आये है तेरी दहलीज पर हम
सितम सितम और सितम ये जहा का इन्साफ है