www.poetrytadka.com



चाहत शायरी

aarzoo shayari, chahat shayari, चाहत शायरी

tanhai me

tanhai me
तन्हाईयों में मुस्कुराना इश्क है
एक बात को सबसे छुपाना इश्क है
यु तो नींद नहीं आती हमें रात भर
मगर सोते-सोते जागना और जागते-जागते सोना इश्क है

chahat wo nahi

chahat wo nahi
चाहत वो नहीं जो जान देती है
चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है
ऐ दोस्त चाहत तो वो है
जो पानी में गिरा आंसू पहचान लेती हैं

ghar se bahar

ghar se bahar
घर से बाहर वो नक़ाब मे निकली
सारी गली उनकी फिराक मे निकली
इनकार करते थे वो हमारी मोहब्बत से
ओर हमारी ही तस्वीर उनकी किताब से निकली

itni mohabbat dunga tujhe

हो जा मेरी कि इतनी मोहब्बत दूँगा तुझे !

लोग हसरत करेंगे तेरे जैसा नसीब पाने के लिए !!

har koi ishq ka diwana hai

इश्क दो जिंदगी का अफसाना हैं !
इश्क का अपना ही एक तराना हैं !
पता हैं सब को मिलेंगे सिर्फ आंसू पर
न जाने दुनियाँ में हर कोई क्यूँ इश्क का ही दीवाना हैं !!