www.poetrytadka.com

hmari adalat me kadam shoch kar rakhna

दोस्ती किसी की रियासत नही होती !
मौत किसी की अमानत नहीं होती !
हमारी अदालत में कदम जरा सोचकर रखना यारो !
यहा दोस्ती तोड़ने वाले की ज़मानत नहीं !!