www.poetrytadka.com

Meri shayari ko mera

मेरी शायरी को मेरा इश्क़ ना समझना ये तो मेरे नादान दिल की ख्वाहिशें हैं जो तुम्हें बयाँ करता हूँ।