2 line khwab shayari

2 line khwab shayari

ख्वाबों में आ कर सताते हो क्यूँ मुझको
खुद सोते हो चैन से और मुझे जगाते हो

Read More khwab shayari