www.poetrytadka.com

Husn Shayari

Welcome to Husn Shayari in Hindi ! हुस्न शायरी page. Looking Husn Shayari be with as as now you are Sundarta Par Phayari page collection. And here you can read latest Husn Shayari on Sundarta in Hindi.

Husn ki tareef shayari in Hindi

Husn ki tareef shayari in Hindi

तेरे हुसन पे कुर्बान हो जाऊ
तेरी बाहों में बेजान हो जाऊ
ऐसी नजाकत है तेरी सूरत की
कि मैं तो तेरा गुलाम हो जाऊ.
Tere hus pe kurban ho jaoun
teri bahon me bejaan ho jaoun
aisi najakat hai teri surat ki
li mai to tera gulam ho jaoun.

Husn Shayari in Hindi

Husn Shayari in Hindi

तेरी सादगी का हुस्न मी लाजवाब है
मुझे नाज है के तू मेरा इंतेखाब है.
Teri sadgi ka husn bhi lajawab hai
mujhey naaz hai ki too mera intekhab hai.

क्या पूछते हो हमसे  हुस्न की तारीफ़ 
हमें जिस से मोहब्बत हुई, वो ही सबसे हसीं
Kya poochhte ho humse husn ki tareef
hamen jis se mohabbat hui wo sabse hansi.

Sundarta Par Phayar

Sundarta Par Phayar

कौन देखता है किसी को अब 
सीरत की नज़र से, 
सिर्फ खूबसूरती को पूजते है, 
नए ज़माने के लोग।

Kaun dekhata hai kisee ko ab 
seerat kee nazar se. 
Sirph sundrta ko poojate hai, 
nae zamaane ke log.

Raat hoti hai aankho me

raat hoti hai aankho me

जाने उस शख्स को कैसा हुनर आता है 
रात होते ही आँखों में उतर जाता है 
मै उसके खयालो से बच के कहा जाऊ 
वो मेरी हर सोच के रास्ते पे नज़र आता है 

Husn ka naaz

husn ka naaz

हुस्न का naaz अभी और बढ़ेगा शहर मे यारो
दो आशिकों ने एक ही महबूब को चुन लिया है