www.poetrytadka.com

Ehsass Shayari



fir nhi baste

फिर नहीं बसते वो दिल जो, एक बार
उजड़ जाते है, कब्रें जितनी भी सजा लो
पर.. कोई ज़िंदा नहीं होता
fir nhi baste

yu na dekh

यूँ न देख मेरे कब्र की तरफ,
तेरे आँखों में अश्क मुझसे देखे नहीं जाते
yu na dekh

bikne wale aur bhi hai

बिकने वाले और भी है, जाओ जाकर खरीद लो
हम कीमत से नहीं, किस्मत से मिला करते है
bikne wale aur bhi hai

hum bhi hai shayari

हादसोँ के गवाह हम भी हैँ,
अपने दिल से तबाह हम भी हैँ,
जुर्म के बिना सजा ए मौत मिली,
ऐसे ही एक बेगुनाह हम भी हैँ
hum bhi hai shayari

mere alfaz

मेरे अल्फाज़ भी नाराज़ है मुझसे
मैं वो लिख नहीं पा रहा हूँ, जो महसूस कर रहा हूँ,
mere alfaz

bewfa ho jata hai

जिस किसीको भी चाहो वोह बेवफा हो जाता है
सर अगर झुकाव तो सनम खुदा हो जाता है
जब तक काम आते रहो हमसफ़र कहलाते रहो
काम निकल जाने पर हमसफ़र कोई दूसरा हो जाता है.
bewfa ho jata hai

tzurba hai mera

तज़ुर्बा है मेरा मिट्टी की पकड़ मजबुत होती है
संगमरमर पर तो हमने पाँव फिसलते देखे हैं
tzurba hai mera

itni mohabbat

ना जाने इतनी मुहब्बत कहां से आई है तेरे लिये
कि मेरा दिल भी तेरी खातिर मुझसे रूठ जाता है.
itni mohabbat

hum gustakh log

अपने हसीन होठो 💋को किसी परदे में छुपा लिया करो
हम गुस्ताख़ लोग हे, नजरो से चुम लिया करते हे
hum gustakh log

sikayat na kiya karo

हर बार शिकायत ना किया करो.. 🍁🍁
कभी तो मुस्कुराहट😊 से मिला करो 💞
sikayat na kiya karo