www.poetrytadka.com

Main aur mere Ehsaas

एक ख़्वाब ही था जिसने साथ ना छोड़ा.. हक़ीक़त तो बदलती रही हालातो के साथ...★ For more shayari like में और मेरे एहसास
Main aur mere Ehsaas