www.poetrytadka.com

Raat ki shayari

Poetry on neend

poetry on neend

नींद नहीं आती अपने गुनाहों के डर से अल्लाह"

फिर सुकून से सो जाती हु ये सोच कर

तेरा एक नाम "रहीम" भी है

Neend shayari 2 lines

neend shayari 2 lines

पहले उसे  मेरी photo देखे बिना नींद नहीं आती थी, 

अब वो मेरी photo देख लेती है तो नींद नहीं आती है

Shayari on neend nahi aati

shayari on neend nahi aati

मत सोना किसी के गोद में सर रखकर जनाब,,

जब वो छोङता है तो,रेशम के तकिये पर भी नींद नही आती

Nind ki shayari

nind ki shayari

मुझे तुम किस लिए जगाते हो यूँ रातों में

नींदआतीनहीं ख्वाइश-ऐ-मुलाक़ातों में

लिपट गई है हसरतें यादों से इस तरह,

ज़िन्दगी मदहोश है तेरे ख्यालातों में.

Raat ki tanhai shayari

raat ki tanhai shayari

तन्हाईयों में मुस्कुराना इश्क है 

एक बात को सबसे छुपाना इश्क है 

यु तो नींद नहीं आती हमें रात भर 

मगर सोते-सोते जागना और जागते-जागते सोना इश्क है