www.poetrytadka.com



Life Shayari in Hindi

dil me rahna sekho

dil me rahna sekho
dil me rahna sekho ghar me to sabhi rahte hai

raha na dil main be-dard aur dard raha
mukeem kon huwa hai mukaam kis ka hai
रहा न दिल मैं बे-दर्द और दर्द रहा
मुकीम को हुवा है मुक़ाम किस का है
ek shaam mohabbat ki lagao yaaro
jo roote hai inko bhi bulao yaaro
एक शाम मोहब्बत की लगाओ यारों
जो रूट है इनको भी बुलाओ यारो

safar zindagi ka kaise katega aakhir
dilon se nafrat ke parde hatao yaaro
सफ़र ज़िन्दगी का कैसे कटेगा आखिर
दिलों से नफ़रत के परदे हटाओ यारो

bhigte rhebarish me

bhigte rhebarish me
ziske paas sirf sikke the wo maze se bhigte rahe barish me
jiske jeeb me note the wo chat tlashte rah gaae

chahat bhari hai rakabat nahi mili
kahi par bhi sadakat nahi mili
चाहत भरी है रकाबत नहीं मिली
कही पर भी सदाकत नहीं मिली

aankh ki 1 hasrat thi jo puri hui
asoon main bheeg jane ki huwas puri hui
आँख की 1 हसरत थी जो पूरी हुई
असून मैं भीग जाने की हवस पूरी हुई