www.poetrytadka.com

Friendship Shayari

Kuch sapne hai

kuch sapne hai

इन पलकों में कैद कुछ सपने है 

कुछ बेगाने है कुछ अपने है 

ना जाने कैसी कशिश है इन ख्यालो में 

कुछ लोग दूर होकर भी कितने अपने है 

Hamari doshti

भरोसा रखो हमारी दोस्ती पर, हम किसी का दिल दुखाया नही करते, आप और आपका अंदाज़ हमे अच्छा लगा, वरना हम किसी को दोस्त बनाया नही करते…

 

Rishte

rishte

रिश्ते उन्ही से बनाओ जो निभाने की औकात रखते हो 

Sachi mohabbat

sachi mohabbat

जिससे सच्ची मोहब्बत की जाती है 

उसकी इज्ज़त मोहब्बत से भी ज्यादा की जाती है 

Uncha uthna hai to

uncha uthna hai to

ऊँचा उठाना है तो अपने अन्दर के अहँकार को निकाल कर स्वय को हल्का करो क्युकी ऊँचा वही उठता है जो हल्का होता है !!