Poetry Tadka

Dil ki Baat

dil ki baat, दिल की बात शायरी के साथ, dil ki baat shayarana andaz

टूटे तो बड़े चुभते है - क्या काँच क्या रिश्ते

chubhte hai dil ki baat

chubhte hai shayari dil ki

रिश्ते और रास्ते तब खत्म हो जाते है 

जब पाँव नही दिल थक जाते है

dil thak jate

dil ki baat shayari ke sath dil thak jate

चेहरे की हंसी से गम को भुला दो

कम बोलो पर सब कुछ बता दो

ख़ुद ना रूठो पर सबको हंसा दो

यही राज है जिन्दगी का

जियो और जीना सिखा दो

Jeena Sikha Do

अब तेरी कोई वजह नही यहां रहने की

चल छोड सब को, तेरी सरहद आ गई गम सहने की

मैं आपकी नज़रों से नज़र चुरा लेना चाहती हूँ,

देखने की हसरत है बस देखते रहना चाहती हूँ

 

dekhne ki hasrat

होंठ कह नहीं सकते जो फ़साना दिल का

शायद नज़रों से वो बात हो जाए

इस उम्मीद से करते हैं इंतज़ार रात का

कि शायद सपनों में ही मुलाक़ात हो जाए

afsana dil ka

कुछ चेहरे भुलाए नहीं जाते

कुछ नाम दिल से मिटाए नहीं जाते

मुलाक़ात हो न हो, अय मेरे यार

प्यार के चिराग कभी बुझाए नहीं जाते

pyar ke chirag kabhi

काश वो नगमें हमें सुनाए ना होते

आज उनको सुनकर ये आंसू ना आए होते

अगर इस तरह भूल जाना ही था

तो इतनी गहराई से दिल में समाए ना होते।

kaash wo nagme hme

भुला कर हमें क्या वो खुश रह पाएंगे

साथ में नही तो मेरे जाने के बाद मुस्कुरायेंगे

दुआ है खुदा से की उन्हें कभी दर्द न देना

हम तो सह गए पर वो टूट जायेंगे

bhula kar hame kya wo

वफा के बदले बेवफाई ना दिया करो

मेरी उम्मीद ठुकरा कर इंकार ना किया करो

तेरी मोहब्बत में हम सब कुछ खो बैठे

जान चली जायेगी इम्तिहान ना लिया करो

wafa ke badle bewafai na diya karo

भुला के मुझको अगर तुम भी हो सलामत

तो भुला के तुझको संभलना मुझे भी आता है

नहीं है मेरी फितरत में ये आदत वरना

तेरी तरह बदलना मुझे भी आता है

teri trah bdalna mujhe bhi aata hai

priv12next