www.poetrytadka.com



Dard Bhari Shayari

dard ki kimat kya hai

dard ki kimat kya hai

मुझे किसी ने पुछा दर्द की कीमत क्या है मैंने कहा मुझे नहीं पता लोग तो मुझे मुफ्त में दे जाते है !!

 

mat rakh humse wfa ki ummid

mat rakh humse wfa ki ummid

mat rakh humse wfa ki ummid

hune hardah bewfai hi pai hai

mat doodh mere zakhmo ke nisha

maine har zakhm dil pe khai hai

tere Shahar me sham nahi hoti

tere Shahar me sham nahi hoti

kha tha har sham guzrenge tere sath tu bdal gya ya tere shahar me sham nahi hoti

mohabbat ke naam se

mohabbat ke naam se

गुज़रे है आज इश्‍क के उस मुकाम से !

नफरत सी हो गयी है मोहब्बत के नाम से !!

DARD BHARI SHAYARI SMS

DARD BHARI SHAYARI SMS

तेरे गम भी अजीब सी चुभन छोड़ जाते हैं !

हँसते हँसते भी मेरे अश्क छलक आते है !!