www.poetrytadka.com

Achi batain

Last Updated

Dost ho ya parinda Achi Achi Baatein

दोस्त हो या परिंदा दोनों को आज़ाद छोड़ दो, लौट आया तो तुम्हारा अगर न लौटा तो तुम्हारा कभी था ही नहीं। Dost ho ya parinda Achi Achi Baatein

The greatest righteousness

बदी का मौका होते हुए भी बदी न करना सबसे बड़ी नेकी है। 

So do not get angry

कोई तुम्हारा दिल दिखाए तो नाराज़ मत होना क्योंकि कुदरत का का क़ानून है जिस दरख़्त का फल ज़यादा मीठा होता है लोग पथ्थर भी उसी को मरते हैं। 

Make your tongue used to the well-being of others

अपनी जुबान को दूसरों की सलामती का आदी बना लो इससे दोस्त बढ़ते हैं और दुश्मन कम होते हैं। 

Insaan ka nature

इंसान मकान बदलता है, रिश्ते बदलता है, दोस्त बदलता है, लेकिन फिर भी दुखी रहता है क्योंकि वो अपने स्वभाव को नहीं बदलता।