www.poetrytadka.com

Aansu Shayari

Himmat itni thi

हिम्मत इतनी थी समुन्दर भी पार कर सकते थे !
मजबूर इतने हुए कि दो बूँद आँसुओं ने डुबो दिया !!

Yado me zhar mila diya

दर्द दे कर इश्क़ ने हमे रुला दियाजिस पर मरते थे !
उसने ही हमे भुला दिया. हम तो उनकी यादों में ही जी लेते थे !
मगर उन्होने तो यादों में ही ज़हेर मिला दिया !!

Lafz jab baraste hai

लफ्ज़ जब बरसते हैं बन कर बूँदें !
मौसम कोई भी हो मन भीग ही जाता है !!

Ab bhi hshin sapne aankho me pal

अब भी हसीन सपने आँखों में पल रहे हैं !
पलकें हैं बंद फिर भी आँसू निकल रहे हैं !
नींदें कहाँ से आएँ बिस्तर पे करवटें ही !
वहाँ तुम बदल रहे हो यहाँ हम बदल रहे हैं !!

Aaz bhi ilzam hai tum par

अधूरी हसरतो का आज भी इल्जाम हैँ !
तुम परअगर तुम चाहते तो ये मोहब्बत खत्म नहीँ होती !!