www.poetrytadka.com

Gulzar Shayari

2022-06-09 17:05:24
खुशबू जैसे लोग मिले अफसानों में
एक पुराण खत खोला अनजाने में
khushaboo jaise log mile aphasaanon mein
ek puraan khat khola anajaane mein

बेहिसाब हसरतें न पालिये
जो मिला है उसे सम्भालिये
behisaab hasaraten na paaliye
jo mila hai use sambhaaliye

Gulzar Shayari in Hindi 2 Lines

gulzar-shayari-in-hindi-2-lines
साथ साथ घुमते हैं हम दोनों रात भर
लोग मुझे आवारा और उसे चाँद कहते हैं
saath saath ghumate hain ham donon raat bhar
log mujhe aavaara aur use chaand kahate hain

ये इश्क़ मोहब्बत की रिवायत भी अजीब है
पाया नहीं है जिसको उसे खोना भी नहीं चाहते
ye ishq mohabbat kee rivaayat bhee ajeeb hai
paaya nahin hai jisako use khona bhee nahin chaahate

Gulzar Love Shayari

gulzar-love-shayari
बैठे चाय की प्याली लेकर पुराने किस्से गरम करने
चाय ठंडी होती गई और आँखें नाम
baithe chaay kee pyaalee lekar puraane kisse garam karane
chaay thandee hotee gaee aur aankhen naam

हमने अक्सर तुम्हारी राहों में
अक्सर तुम्हारा इंतज़ार किया
hamane aksar tumhaaree raahon mein
aksar tumhaara intazaar kiya

Gulzar Shayari on Life

gulzar-shayari-on-life
मैं तो चाहता हूँ
हमेशा मासूम बने रहना
ये जो ज़िन्दगी है
समझदार किये जाती है
main to chaahata hoon
hamesha maasoom bane rahana
ye jo zindagee hai
samajhadaar kiye jaatee hai

Shayari by Gulzar

shayari-by-gulzar
Kaun Kahta Hai K Hum Jhooth nahin boltey
Tum Ek Baar Khairiyat Poochkar To dekho
कौन कहता है क हम झूठ नहीं बोलते
तुम एक बार ख़ैरियत पुचकार तो देखो

शाम से आँख में नमी सी है
आज फिर आपकी कमी सी है
shaam se aankh mein namee see hai
aaj phir aapakee kamee see hai

Best Gulzar shayari in hindi

best-gulzar-shayari-in-hindi