www.poetrytadka.com

Ye tazurba huaa

ये तजुर्बा भी हुआ है, बुझे चिरागो से !
के हर अंधेरा हमे देखना सिखाता है !!