www.poetrytadka.com

wo sochte hai hum pyar nahi karte

वादे पे वो ऐतबार नहीं करते हम जिक्र मौहब्बत सरे बाजार !
नहीं करते डरता है दिल उनकी रुसवाई से और
वो सोचते हैं हम उनसे प्यार नहीं करते !!