www.poetrytadka.com

Utar Ke Dekh Meri Chahat Ki Gahrai

Last Updated

उतर  के देख मेरी चाहत की गहराई में !

सोचना मेरे बारे में रात की तन्हाई में !

अगर हो जाए मेरी चाहत का एहसास तुम्हे !

तो मिलेगा मेरा अक्स तुम्हे अपनी ही परछाई में !!