tumhara husn

do line shayari tumhara

तुम्हारा हुस्न आराइश.तुम्हारी सादगी जेवर,

तुम्हें कोई जरूरत ही नहीं बनने-संवरने की

 

Read More दो लाइन शायरी
Share via Whatsapp