www.poetrytadka.com

tum ye mat samajhna

तुम ये मत समझना की मुझे कोई नहीं चाहता !
तुम छोड़ भी दोगे तो..मौत खड़ी है अपनाने के लिए !!