toot kar bikharna

poems bucket toot kar bikharna

जब कभी टूट कर बिखरना तो बताना हमको 

हम तुम्हे रेट के ज़र्रो से भी चुन सकते है