www.poetrytadka.com

teri muskan

तेरी मुस्कान तेरा लहज़ा और तेरे मासूम से अल्फाज़ , 

और क्या कहूँ बस बहुत याद आते हो तुम