www.poetrytadka.com

teri aankhe jo bol jati hai

तेरी आँखे जो बोल जाती है तेरी साँसे जब गुनगुनाती है !
तब मेरी हर हसरत एक नया रूप पाती है !!