www.poetrytadka.com

tere liye hi maa

tere liye hi maa

तेरे लिए ही मां मैं जन्नत से आई हूं ,

सच तो ये है माँ मैं तेरी ही परछाई हूं