www.poetrytadka.com

Tere khazane me

ना कर मुहताज किसी का मुझे जमाने में 

कमी है कोन सी यारब तेरे खजाने में 

tere khazane me