www.poetrytadka.com

Tere intzar me hai

ये ‪बाहें‬ हमारी ‪आज‬ भी, तेरे ‪इंतजार‬ में हैं !
जिंदगी जीने की ‪‎ख्वाइश‬ हो, तो लौटकर आ जाना !!