www.poetrytadka.com

tera mushkurana kafi hai

भंवरो के लिए फूलों का खिलना काफी है !
शमा के लिए परवाने का जल जाना काफी है !
हमें और कुछ नहीं चाहिए ऐ दोस्त !
हमारे लिए आपका मुस्कुराना काफी है !!