www.poetrytadka.com



one line shayari

Bhookha pait

भूखा पेट और खाली जेब -
इंसान को जीवन में बहुत कुछ सिखा जाता है।

wo aakhri sarhad

वो मेरी आखिरी सरहद हो जैसे सोच जाती ही नहीं उससे आगे !!

shor karti hai

शोर करती है जब भी खामोशी भीड मे जा के बैठ जाता हुं !!

sans ruk gai meri

रात युं सांस रुक गयी मेरी, तु मुझे भुल गया हो जैसे !!

koi yad ban gya

दूरियां भी क्या क्या करा देती हैं कोई याद बन गयाकोई ख्वाब !!