shisha ho ya dil ho toot jata hai

whatsapp status in hindi songs shisha ho ya dil ho toot jata hai

शीशा हो या दिल हो आख़िर टूट जाता है

लब तक आते आते हाथों से सागर छूट जाता है

काफ़ी बस अरमान नहीं, कुछ मिलना आसान नहीं 

दुनिया की मजबूरी है, फिर तकदीर ज़रूरी है

ये दो दुश्मन हैं ऐसे, दोनो राज़ी हो कैसे

एक को मनाऊँ तो, दूजा रूठ जाता है

बैठे थे किनारे पे, मौजों के इशारे पे

हम खेले तूफ़ानों से, इस दिल के अरमानों से

हमको ये मालूम न था, कोई साथ नहीं देता

माँझी छोड़ जाता है, साहील छूट जाता है

दुनिया एक तमाशा है, आशा और निराशा है

थोड़े फूल हैं, काँटे हैं, जो तकदीर ने बाटे है

अपना अपना हिस्सा है, अपना अपना किस्सा है

कोई लुट जाता है, कोई लूट जाता है

गीतकार : आनंद बक्षी

गायक : लता मंगेशकर,

संगीतकार : लक्ष्मीकांत प्यारेलाल

चित्रपट : आशा (१९८०)

Read More