www.poetrytadka.com

Shayari Desh Bhakti

बस ये बात हवाओं को बताये रखना
रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना
लहू देकर जिसकी हिफाज़त की शहीदों ने
उस तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना.

Shayari Desh Bhakti