Real Life inspirational stories in hindi

एक दिल को छू लेने वाली कहानी जरूर पढ़े

Real Life inspirational stories in hindi

पत्नी ने पति से कहा, "कितनी देर तक समाचार पत्र पढ़तेरहोगे ? यहाँ आओ और अपनी प्यारी बेटी को खानाखिलाओ" पति ने समाचार पत्र एक तरफ़ फेका और बेटी कीध्यान दिया,बेटी की आंखों में आँसू थे और सामने खाने कीप्लेट... बेटी एक अच्छी लड़की है

 

और अपनी उम्र के बच्चों सेज्यादा समझदार. पति ने खाने की प्लेट को हाथ में लियाऔर बेटी से बोला,"बेटी खाना क्यों नहीं खा रही हो? आओबेटी मैं खिलाऊँ." बेटी जिसे खाना नहीं भा रहा था, सुबकसुबक कर रोने लगी और कहने लगी,"मैं पूरा खाना खा लूँगी परएक वादा करना पड़ेगा

 

आपको.""वादा", पति ने बेटी को समझाते हुआ कहा, "इस प्रकार कोईमहँगी चीज खरीदने के लिए जिद नहीं करते.""नहीं पापा, मैं कोई महँगी चीज के लिए जिद नहीं कर रहीहूँ." फिर बेटी ने धीरे धीरे खाना खाते हुये कहा,"मैं अपने सभी बाल कटवाना चाहती हूँ."

 

पति और पत्नी दोनों अचंभित रह गए और बेटी को बहुतसमझाया कि लड़कियों के लिए सिर के सारे बाल कटवा करगंजा होना अच्छा नहीं लगता है. पर बेटी ने जवाब दिया,"पापा आपके कहने पर मैंने सड़ा खाना, जो कि मुझे अच्छानहीं लग रहा था, खा लिया और अब वादा पूरा करने कीआपकी बारी है."

 

अंततः बेटी की जिद के आगे पति पत्नीको उसकी बात माननी ही पड़ी. अगले दिन पति बेटी कोस्कूल छोड़ने गया.बेटी गंजी बहुत ही अजीब लग रही थे. स्कूल में एक महिला नेपति से कहा, "आपकी बेटी ने एक बहुत ही बड़ा काम किया है.

 

मेरा बेटा कैंसर से पीड़ित है और इलाजमें उसके सारे बालखत्म हो गए हैं. वह् इस हालत में स्कूल नहीं आना चाहता थाक्योंकि स्कूल में लड़के उसे चिढ़ाते हैं. पर आपकी बेटी ने कहाकि वह् भी गंजी होकर स्कूल आयेगी और वह् आ गई.इस कारणदेखिये मेरा बेटा भी स्कूल आ गया. आप धन्य हैं कि आपके ऐसीबेटी है " 

 

पति को यह सब सुनकर रोना आ गया और उसने मन हीमन सोचा कि आज बेटी ने सिखा दिया कि प्यार क्याहोता है.इस पृथ्वी पर खुशहाल वह नहीं हैं जो अपनी शर्तों पर जीते हैंबल्कि खुशहाल वे हैं जो, जिन्हें वे प्यार करते हैं, उनके लिए बदलजाते है !यह कहानी ने आप के दिल को छुआ होतो लाईक व शेयर जरूर करे 

 

कृपया शेयर जरूर करें

Read More