www.poetrytadka.com

Rakha karo nazdeekiyan

रखा करो नजदीकियॉ.....

जिन्दगी का कुछ भरोसा नही....

फिर मत कहना....

चले भी गऐ और बताया भी नही....!