pyar ka dard sher o shayari

pyar ka dard sher o shayari

ये सुना है कि हिज्र में मेरे आपने मुस्कुराना छोड़ दिया
ये तो ऐसा है जैसे मछली ने सर्दियों में नहाना छोड़ दिया

Read More Pyar ka dard shayari