www.poetrytadka.com

हम जो सबका दिल रखते हैं 
सुनो, हम भी एक दिल रखते हैं
Ham jo sabka dil rakhte hain
sunon, ham bhi aik dil rakhte hain.

हाथों की लकीरों पे मत जा ऐ गालिब
नसीब उनके भी होते हैं जिनके हाथ नहीं होते.
Hathon ki lakeeron par mat jana a ghalib
naseeb unke bhi hote hain jinke hath nahin hote.

रगों में दौड़ते फिरने के हम नहीं क़ाइल, 
जब आँख ही से न टपका तो फिर लहू क्या है...
Ragon me daudne firne ke ham nahin kail
jab aankh he se na tapka to fir lahoo kia hai.

Mirza Ghalib Shayari in Hindi