www.poetrytadka.com

Jhooth Kahun to Lafzon Ka Dam Ghutta hai
Sach Kahun To Log Khafa Ho Jate Hain
झूठ कहूँ तो लफ़्ज़ों का दम घुटता है
सच कहूं तो लोग खफा हो जाते हैं

sahama sahama dara sa rahata hai
jaane kyon jee bhara sa rahata hai
सहमा सहमा डरा सा रहता है
जाने क्यों जी भरा सा रहता है
Gulzar ki shayari in hindi