www.poetrytadka.com

बुलाती है मगर जाने का नईं,
वो दुनिया है उधर जाने का नईं.
bulaatee hai magar jaane ka naeen,
vo duniya hai udhar jaane ka naeen.

ज़मीं रखना पड़े सर पर तो रक्खो,
चलो हो तो ठहर जाने का नईं.
zameen rakhana pade sar par to rakkho,
chalo ho to thahar jaane ka naeen.

है दुनिया छोड़ना मंज़ूर लेकिन,
वतन को छोड़ कर जाने का नईं.
hai duniya chhodana manzoor lekin,
vatan ko chhod kar jaane ka naeen.

जनाज़े ही जनाज़े हैं सड़क पर,
अभी माहौल मर जाने का नईं.
janaaze hee janaaze hain sadak par,
abhee maahaul mar jaane ka naeen.

सितारे नोच कर ले जाऊँगा,
मैं ख़ाली हाथ घर जाने का नईं,
sitaare noch kar le jaoonga,
main khaalee haath ghar jaane ka naeen,

मिरे बेटे किसी से इश्क़ कर,
मगर हद से गुज़र जाने का नईं.
mire bete kisee se ishq kar,
magar had se guzar jaane ka naeen.

वो गर्दन नापता है नाप ले,
मगर ज़ालिम से डर जाने का नईं.
vo gardan naapata hai naap le,
magar zaalim se dar jaane ka naeen.

सड़क पर अर्थियाँ ही अर्थियाँ हैं,
अभी माहौल मर जाने का नईं.
sadak par arthiyaan hee arthiyaan hain,
abhee maahaul mar jaane ka naeen.

वबा फैली हुई है हर तरफ़,
अभी माहौल मर जाने का नईं.
vaba phailee huee hai har taraf,
abhee maahaul mar jaane ka naeen.

Rahat Indori Best Shayari