www.poetrytadka.com

Kaun Kahta Hai K Hum Jhooth nahin boltey
Tum Ek Baar Khairiyat Poochkar To dekho
कौन कहता है क हम झूठ नहीं बोलते
तुम एक बार ख़ैरियत पुचकार तो देखो

शाम से आँख में नमी सी है
आज फिर आपकी कमी सी है
shaam se aankh mein namee see hai
aaj phir aapakee kamee see hai
Best Gulzar shayari in hindi