www.poetrytadka.com

pad paisa bhoolae

पद व पैसा भूलिए, न करिए अभिमान !
ऐसी वाणी बोलिए, बन जाइए पहचान !
सद्व्यवहार और...परोपकार कीजिए !
इस जीवन ही पा लीजिए मान-सम्मान !!