www.poetrytadka.com

naseeb ki barishain

naseeb ki barishain

नसीब की बारिश कुछ इस तरह से होती रही मुझ पे...

ख्वाहिशे सुखती रही और पलके भीगती रही