www.poetrytadka.com

Nahi hai mohabbat

ये बात और है कि इज़हार ना कर सकेँ

नहीँ है तुम से मोहब्बत..भला ये कौन कहता है

 

nahi hai mohabbat