www.poetrytadka.com

Nafrat karni ho to

नफ़रत करनी हो तो इस कदर करना मुझसे !
मै दुनियाँ से जाएँ और तेरी जुबां पर लफ्ज़-ए-शुकर हो !!