www.poetrytadka.com

Mohabbat ki inteha

किसी की खातिर मोहब्बत की इन्तेहाँ कर दो, 

लेकिन इतना भी नहीं कि उसको खुदा कर दो, 

मत चाहो किसी को टूट कर इस कदर इतना, 

कि अपनी वफाओं से उसको बेवफा कर दो

सबसे बेस्ट शायरी Click Here