www.poetrytadka.com

mohabbat ab smajhdar ho gae

मोहब्बत अब समझदार हो गयी है !
हैसियत देख कर आगे बढ़ती है !!